ALL MEDICAL AND HEALTH JOBS AND CARRER ENTERTAINMENT business education UNIVERSAL SPORTS RELIGION
ग्वालियर में विश्व स्तरीय दिव्यांग खेल केंद्र का शिलान्यास
September 27, 2020 • jainendra joshi • SPORTS

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय के डीईपीडब्लूडी विभाग द्वारा वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से आयोजित एक कार्यक्रम में मध्य प्रदेश के ग्वालियर में विश्व स्तरीय दिव्यांग खेल केंद्र का शिलान्यास किया गया। इस अवसर पर कृषि एवं किसान कल्याण, ग्रामीण विकास, पंचायती राज और खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री, भारत सरकार, श्री नरेंद्र सिंह तोमर, ग्वालियर से लोकसभा सदस्य श्री विवेक नारायण शेजवलकर, मध्य प्रदेश सरकार में बागवानी एवं खाद्य प्रसंस्करण मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), नर्मदा घाटी विकास राज्यमंत्री, भरत सिंह कुशवाहा और मध्य प्रदेश सरकार में ऊर्जा मंत्री श्री प्रद्युमन सिंह तोमर उपस्थित रहे।

इस अवसर पर श्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि वह सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री श्री थावर चंद गहलोत के शुक्रगुजार हैं, जिनके प्रयास से मध्य प्रदेश के ग्वालियर में विश्व स्तरीय दिव्यांगजन खेल सुविधा केंद्र का आज शिलान्यास हो रहा है। इस समय दिव्यांगजनों के लिए खेल प्रशिक्षण सुविधा केंद्र नहीं है। इस प्रस्तावित केंद्र से दिव्यांग जनों को विशिष्ट प्रशिक्षण सुविधा उपलब्ध हो पाएगी। इस केंद्र की स्थापना से दिव्यांग जनों में समाज में अपने एकीकरण हेतु प्रयासों के चलते जुड़ाव का अनुभव होगा।

मध्य प्रदेश के ग्वालियर में दिव्यांगजन खेल केंद्र स्थापित किए जाने को कैबिनेट ने 28 फरवरी 2019 को अपनी मंजूरी दी थी। इस केंद्र की स्थापना पर कुल 170.99 करोड रुपए का खर्च आएगा। इस केंद्र को सोसायटी पंजीकरण अधिनियम 1860 के अंतर्गत पंजीकृत किया जाएगा। इसके प्रबंधन के लिए डीईपीडब्‍ल्‍यूडी में सचिव की अध्यक्षता में शासक मंडल का गठन हुआ है। डीईपीडब्ल्‍यूडी सचिव की अध्यक्षता में ही परियोजना के क्रियान्वयन के लिए परियोजना निगरानी समिति भी बनाई गई है।

यह क्रीड़ा केंद्र दिव्यांग खिलाड़ियों को विश्वस्तरीय प्रशिक्षण सुविधा उपलब्ध कराएगा जिससे हमारे देश के दिव्यांग खिलाड़ी भी विश्व स्पर्धाओं में भाग ले सकेंगे और देश का नाम रोशन कर सकेंगे। इसमें एक आउटडोर एथलेटिक स्टेडियम होगा, इनडोर स्पोर्ट्स कंपलेक्स होगा, बेसमेंट में पार्किंग की सुविधा होगी, एक्वेटिक सेंटर में दो स्विमिंग पूल होंगे जिनमें एक पूरी तरह से खुला होगा जबकि दूसरा ढका हुआ होगा, हाई परफॉर्मेंस केंद्र होंगे जिसमें क्लासरूम भी रहेंगे, चिकित्सा सुविधा केंद्र होंगे, खेल विज्ञान केंद्र, खिलाड़ियों के लिए हॉस्टल की सुविधा होगी, खिलाड़ियों के लॉकर, खाने के लिए स्थान, सामान्य जन सुविधाएं और प्रशासनिक खंड होगा।

इस केंद्र में प्रशिक्षण, चयन, खेल अकादमी और शोध, चिकित्सा मदद, दर्शक दीर्घा और सुविधा अनुसार राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय खेलों के आयोजन की सुविधा रहेगी। बैडमिंटन, बास्केटबॉल, टेबल टेनिस, वॉलीबॉल, जूडो, ताइक्वांडो, फेंसिंग और रग्बी बोकिया, गोल बॉल, एक तरफ 5 खिलाड़ी फुटबॉल, पैरा डांस, पैरा पावर लिफ्टिंग, एथलेटिक, आर्चरी, टेनिस और स्विमिंग आदि खेलों के लिए प्रशिक्षण की सुविधा उपलब्ध होगी।