ALL MEDICAL AND HEALTH JOBS AND CARRER ENTERTAINMENT business education UNIVERSAL SPORTS RELIGION
<पीएम स्ट्रीट वेंडर निधि योजना की पूरी जानकारी >
August 19, 2020 • jainendra joshi • UNIVERSAL

पीएम स्ट्रीट वेंडर निधि योजना

यह स्ट्रीट वेंडर्स के लिए  ठेले वालों के लिए जो सड़कों पर खाने पीने की रोजमर्रा के सामान की दुकान लगाते हैं उनके लिए प्रधानमंत्री द्वारा एक्सरे निधि

योजना का आरंभ किया गया है जिसमें स्ट्रीट वेंडर्स को माइक्रो क्रेडिट सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी जिसमें उन्हें लोन उपलब्ध कराया जाएगा ताकि वह महंगे

कर जी से उनको मुक्ति मिले और उनका जीवन स्तर में सुधार हो

पीएम स्ट्रीट वेंडर निधि योजना इस सुविधा का महत्वपूर्ण फायदा क्या है

पीएम निधि एक केंद्र सरकार द्वारा चालू की जाने वाली योजना है यह देखा गया कि लॉकडाउन में  ठेले वालों को को काफी नुकसान हुआ उनकी रोजी-रोटी पर

संकट आ गया और वह है कर्ज में डूब गए अब उनको वापिस अपना व्यापार शुरू करने के लिए काफी दिक्कतें आ रही थी यही देखते हुए केंद्र सरकार ने एक

अच्छा कदम उठाया है और लोन देने की योजना बनाई है ताकि स्ट्रीट वेंडर्स ठेले वाले अपना रोजगार वापिस शुरु कर सकें इसमें विक्रेताओं को आजीविका और

रोजगार दोबारा शुरू करने के लिए किफायती रेट पर काम करने लायक पूंजीगत ऋण प्राप्त करने की सुविधा प्रदान की जाएगी

 

 प्रधानमंत्री स्व निधि योजना खड़ी ठेले वालों के लिए क्यों शुरू की गई है

यह देखा गया है कि लॉकडाउन में कोरोना के कारण इस वैश्विक महामारी में छोटे विक्रेताओं जो रोज कमाते थे रोज खाते थे के लिए संकट आ गया है और

उनकी परिवार चलाना मुश्किल हो गया है उनके पास थोड़ी रकम थी थी वह यह है दो-तीन महीने में घर खर्च में उनकी खर्च हो गई अब दोबारा से अपना छोटा

व्यवसाय शुरू करने के लिए उनके पास पैसे नहीं थे यही सोचकर केंद्र सरकार द्वारा यह योजना शुरू की गई है ताकि वह अपना कारोबार वापस शुरू कर

सकें और अपने जीवन यापन कर सकें

 

प्रधानमंत्री  स्व निधि योजना के मुख्य उद्देश्य कौन-कौन से हैं

यह हम जान लेते हैं सबसे पहले इसके अंदर कम ब्याज पर 10000 तक के कार्य करने के लायक पूंजीगत ऋण की सुविधा प्रदान की जाएगी इसके अलावा

इसमें जो व्यक्ति ऋण की नियमित return  करेगा उसको अलग से प्रोत्साहन दिया जाएगा ताकि  अपनी क्रेडिट बैंक में

अच्छी रख सकें इसके अलावा डिजिटल लेनदेन को भी पुरस्कृत किया जाएगा जो व्यक्ति डिजिटल लेनदेन करेगा उन्हें अलग से प्रोत्साहन किया जाएगा

 

आइए अब जान लेते हैं कि प्रधानमंत्री स्व  निधि योजना की मुख्य विशेषताएं क्या क्या है

इसके अंदर सबसे पहले यह देखना पड़ेगा कि 10000 तक की  काम करने लायक होगी व्यवसाय को दी जाएगी इसमें हमें कार्य समय से पहले जो व्यापारी

अपनी 10000 की पूंजी को किस्तों में जमा करवाएगा उसे सरकार द्वारा 7% की दर से  अलग से ब्याज सब्सिडी दी जाएगी इसके अलावा इसमें जो

डिजिटल लेनदेन से अपना कार्य करेगा अपनी  मासिक किस्त को डिजिटल लेनदेन से बैंक में वापस जमा कर आएगा उसको अलग से प्रोत्साहन दिया

जाएगा इसके अलावा यदि वह प्रथम को समय पर ₹10000 जो पहली बार दिए जाएंगे समय पर return कर देगा तो उसे और अधिक ऋण की पात्रता

लायक माना जाएगा ताकि वे अधिक ले सकें और अपने कारोबार को और अधिक बढ़ा सकें

 

केंद्र सरकार की नजर में इस योजना के लाभार्थी कौन कौन हैं

यह हम देख लेते हैं केंद्र सरकार चाहती है कि शहरों में रेहड़ी लगाने वाले पथ विक्रेता इसमें शहरी इलाकों की जो ग्रामीण क्षेत्र है उसमे लगाते हैं स्ट्रीट वेंडर

लगाते हैं इसमें शामिल हैं लेकिन वह लोग जो 24 मार्च 2020 lockdown  था उससे पहले यह कार्य करते हुए होने चाहिए

 

प्रधानमंत्री से निधि योजना में पथ विक्रेता किन-किन को माना गया है

यह हम देख लेते हैं सरकार की नजर में पथ विक्रेता ऐसा व्यक्ति है रोजमर्रा के सामान जैसे 

खाद्य सामग्री  चाय पकौड़े की दुकान नाई की दुकान छोटी धोबी की दुकान और सड़क पर पुस्तके बेचने वाले इस तरह की जो छोटे-मोटे जो दुकाने हैं जो

अस्थाई रूप से बने हुए स्टॉल thadi  में चलती है वह पथ विक्रेता के रूप में माने गए हैं उसमें गली-गली घूमकर  करने वाले लोगों की माने गए हैं जो सब्जी

बेचते हैं कल भेजते हैं यदि भेजते हैं इन सब को भी इसमें माना गया है

 

सरकार की इस योजना में कौन-कौन सी संस्थाएं ऋण उपलब्ध कराएगी

यह देखना जरूरी है इसमें हमने देखा है कि अनुसूचित वाणिज्यिक बैंकों क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक लघु वित्त बैंक सहकारी बैंक गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियों को

वित्तीय संस्थाएं और HSG बैंक ने ऋण उपलब्ध कराएंगे

 

प्रधानमंत्री स्वनिधि  योजना का कार्यकाल कितना है

इस योजना का कार्यकाल मार्च 2022 तक रहेगा

 

प्रधानमंत्री शहरी योजना में कितनी राशि कितने वर्ष के लिए काम करने के लिए दी जाएगी

यह जानना भी आवश्यक है तो हम यह जान लेते हैं कि इस योजना में ₹10000 तक की राशि कार्य करने  1 वर्ष के दिन अवधि के

लिए दी जाएगी

 

 मेरे पास सर्टिफिकेट ऑफ वेंडिंग/पहचान पत्र है। मैं ऋण के लिए कैसे आवेदन कर सकता हूँ?

आप अपने क्षेत्र में किसी बैंकिंग कोरेस्पोंडेंट (बीसी)/ सूक्ष्म वित्त संस्था (एमएफआई) के एजेंट से संपर्क कर सकते हैं। यूएलबी (ULB) के पास इन व्यक्तियों

की। सूची होगी। वे आपका आवेदन भरने और मोबाइल ऐप/ वेब पोर्टल में दस्तावेज अपलोड करने में आपकी मदद करेंगे।

 

3. मुझे कैसे पता चलेगा कि मैं सर्वेक्षण सूची में हूं?

4. मेरा नाम सर्वेक्षण विक्रेताओं की सूची में है, लेकिन मेरे । पास न तो पहचान पत्र और न ही सर्टिफिकेट ऑफ वेंडिंग है?

क्या मैं ऋण सुविधा का लाभ उठा सकता हूं?

यदि हाँ, तो इसकी क्या प्रक्रिया है?

हां, आप भी इस योजना का लाभ उठा सकते हैं। विक्रेताओं को वेब पोर्टल के माध्यम से एक प्रोविजनल सर्टिफिकेट ऑफ वेंडिंग जारी किया जाएगा। बीसी

/एजेंट आवेदन भरने और मोबाइल ऐप/पोर्टल में दस्तावेज अपलोड करने में आपकी मदद करेंगे। आप पीएम स्वनिधि की वेबसाइट

(pmsvanidhi.mohua.gov.in) पर यह सूचना प्राप्त कर सकते हैं।

अपलोड करने में आपकी मदद करेंगे।

 

या 6. में शहरी विक्रेता हूं, लेकिन मुझे सर्वेक्षण में शामिल नहीं किया गया है। मैं स्कीम से किस प्रकार लाभ प्राप्त कर सकता हूं? यह स्कीम उन विक्रेताओं

के लिए भी उपलब्ध है जो आस-पास के परिनगरीय ग्रामीण क्षेत्रों में रहते हैं और समीप के शहरों/कस्बों में आकर बिक्री कार्य करते हैं तथा सर्वेक्षण में

शामिल नहीं हो पाए हैं। यदि आप इस श्रेणी में आते हैं, तो आपको यूएलबी (ULB)/टाऊन वेंडिंग कमिटी (TVC) से सिफारिश पत्र (लेटर ऑफ

रिकमेन्डेशन) प्राप्त करने के लिए निम्नलिखित दस्तावेजों में से कोई एक प्रस्तुत करना होगाः

(1) लॉक डाउन अवधि के दौरान कुछ राज्यों केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा दी गई एककालिक सहायता का प्रमाण;

(2) वेंडिंग के उद्देश्य से बैंक एनबीएफसीएमएफआई से। लिए गए पिछले ऋण के दस्तावेज; या

(3) अगर वह किसी वेंडर एसोसिएशन का सदस्य है तो उसकी सदस्यता का प्रमाण; या

(4) कोई अन्य दस्तावेज जो यह साबित करते हों कि आप विक्रेता हैं।

 

. सीओवी (COV)/आईडी (ID)/ एलओआर (LOR) को अतिरिक्त केवाईसी (KYC) दस्तावेज कौनसे हैं?

(1) आधार कार्ड*

(2) मतदाता पहचान पत्र*

(3)

ड्राइविंग लाइसेंस

(4) मनरेगा कार्ड

(5) पैन कार्ड

 

 ब्याज सब्सिडी की दर और राशि कितनी है?

ब्याज सब्सिडी की दर 7% हैसब्सिडी की राशि सीधे। ही आपके खाते में त्रैमासिक आधार पर जमा की जाएगी। समय से पूर्व भुगतान करने पर सब्सिडी की

स्वीकार्य राशि एक बार में ही जमा कर दी जाएगी। ₹10,000 के ऋण हेतु, यदि आप समय पर सभी 12 ईएमआई (EMI) का भुगतान । कर देते हैं, तो

आपको ब्याज सब्सिडी राशि के रूप में लगभग 400 रूपए प्राप्त होंगे।

 

. क्या मुझे इस ऋण की प्राप्ति के लिए किसी प्रकार का कोलेट्रल देना होगा?

कोई कोलेट्रल देने की आवश्यकता नहीं है।

. मुझे किसी प्रकार की शिकायत के लिए किससे संपर्क करना चाहिए?

किसी शिकायत के मामले में, आप मंत्रालय में निम्नलिखित अधिकारी से संपर्क कर सकते हैं: । को इंटरेस्ट निदेशक (एनयूएलएम), कमरा नं. 334-सी,

आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय, निर्माण भवन, मौलाना आजाद रोड, नई दिल्ली – 110011 ई-मेलः neeraj.kumar3@gov-in दूरभाष: 011-

23062850